PET EXAM 2022 : UP PET परीक्षा को लेकर 252 बसों का रूट प्लान तैयार

0
95
PET EXAM 2022

उत्तर प्रदेश अधीनस्थ सेवा चयन आयोग द्वारा प्राथमिक योग्यता परीक्षा पीएटी 2022 का आयोजन 15 और 16 अक्टूबर को दो पालियों में किया जा रहा है। जिले में भी बड़ी संख्या में बाहरी जिलों से परीक्षार्थी परीक्षा देने आ रहे हैं, जबकि जिले के अभ्यर्थी अन्य जिलों में परीक्षा देने जाएंगे।

ऐसे में उम्मीदवारों की संख्या को देखते हुए उत्तर प्रदेश परिवहन निगम ने रोडवेज बसों के संचालन को लेकर निगम मुख्यालय से मिले निर्देश के बाद व्यापक कार्य योजना तैयार की है. जिसके तहत विभिन्न रूटों पर कुल 252 बसों का संचालन किया जाएगा। इस संबंध में सभी प्रमुख परीक्षा केंद्रों से जुड़े रोडवेज क्षेत्रों को 3 दिन के लिए निर्देश जारी कर दिए गए हैं. इसके साथ ही विस्तृत रूट चार्ट बनाकर अभ्यर्थियों की सुविधा के अनुसार बसों के संचालन के निर्देश दिए गए हैं। क्षेत्रीय प्रबंधक बीपी अग्रवाल ने बताया कि इसके लिए 14 से 16 अक्टूबर तक कंट्रोल रूम भी बनाया गया है. जिसमें बीसी हरवंश को सुबह 6 बजे से दोपहर 2 बजे तक ड्यूटी पर लगाया गया है, इसके अलावा बीसी संजय बघेल से ड्यूटी पर रहेंगे. दोपहर 2 बजे से 10 बजे तक। डिपो में पदस्थापित कर्मचारी नियंत्रण कक्ष में पदस्थापित कर्मचारियों से संपर्क कर प्रत्येक 2 घंटे में डिपो से बाहर निकली बसों की रूटवार जानकारी तथा प्रथम पाली की समाप्ति के बाद अभ्यर्थियों को उपलब्ध करायी गयी बसों की जानकारी दर्ज करायेंगे. परीक्षा की दूसरी पाली। में अंकित करेंगे उन्होंने कहा कि छात्रों की संख्या के आधार पर प्रत्येक पाली के लिए बसें निर्धारित की गई हैं। इनमें इटावा, फिरोजाबाद, मैनपुरी, फर्रुखाबाद, औरैया डिपो के सहायक क्षेत्रीय प्रबंधकों को नोडल अधिकारी बनाया गया है और बस स्टैंड पर शिफ्ट वाइज ड्यूटी लगाने के निर्देश दिए गए हैं. इसके अलावा सहायक क्षेत्रीय प्रबंधक वित्त एमसी शर्मा को इस पूरी व्यवस्था का नोडल अधिकारी बनाया गया है। बता दें कि इटावा क्षेत्र के पांच जिलों में एक लाख चालीस हजार से अधिक उम्मीदवारों के आने की संभावना है.

PET EXAM 2022

बाहरी जिलों से आयेंगे लाखों की संख्या में छात्रइटावा। उत्तर प्रदेश परिवहन निगम ने परीक्षा के दौरान बेहतर परिवहन के लिए 30 प्रतिशत अभ्यर्थियों की संख्या के आधार पर बस आवंटन किया है, यानी रोडवेज का मानना है कि बस में 30 प्रतिशत अभ्यर्थी ही यात्रा करेंगे. बाकी अन्य माध्यमों से परीक्षा केंद्र पहुंचेंगे। ऐसे में इटावा रोडवेज क्षेत्र से औरैया, इटावा, फर्रुखाबाद, फिरोजाबाद और मैनपुरी जिलों में बनाए गए परीक्षा केंद्रों के लिए 162 बसों की जरूरत बताई गई है. इनमें झांसी, आगरा, फतेहपुर, उन्नाव, लखनऊ, हरदोई, बिहार, कन्नौज, कानपुर नगर और जालौन से परीक्षार्थी परीक्षा देने आएंगे. इटावा क्षेत्र से दूसरे जिलों में परीक्षा देने जा रहे डेढ़ लाख से अधिक अभ्यर्थी हैं। ऐसे में औरैया, इटावा, फर्रुखाबाद, फिरोजाबाद जैसे जिलों के उम्मीदवार परीक्षा में बैठने के लिए आगरा, अलीगढ़, बदायूं, हाथरस, जालौन, कासगंज, बलरामपुर जाएंगे.

निगरानी व समन्वय पर काम करेंगी टीमइटावा। क्षेत्रीय प्रबंधक बीपी अग्रवाल ने बताया कि यात्री सुविधाओं में सुधार के लिए निगम लगातार प्रयास कर रहा है. इटावा क्षेत्र भी इस मामले में पीछे नहीं है। ऐसे में इस परीक्षा की सभी तैयारियां पूरी कर ली गई हैं. संबंधित अधिकारियों व कर्मचारियों को ड्यूटी लगाकर सूचना दी गई है। साथ ही निगरानी और समन्वय की नीति अपनाने के निर्देश दिए हैं. जिन रूटों पर और बसों की जरूरत होगी, उन रूटों को फिर से रूट करने के भी निर्देश दिए गए हैं। ताकि अभ्यर्थियों को किसी प्रकार की परेशानी न हो। इसके साथ ही सामान्य यात्रियों को आवश्यकता अनुसार बसें उपलब्ध कराने का भी ध्यान रखा जा रहा है।

Recent Post

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here