उत्तराखंड: राशन कार्ड से जुड़ी बड़ी ख़बर

0
94

रुद्रपुर से मुकेश कुमार की रिपोर्ट। पूर्ति विभाग में हुए करोड़ों रुपए के घोटाले की जांच की मांग को लेकर भाईचारा एकता मंच के केंद्रीय अध्यक्ष केपी गंगवार ने जब माननीय उच्च न्यायालय में जनहित याचिका दायर कर दी तब पूर्ति विभाग अपने आप को बचाने के लिए अब गलत तरह से घर घर जाकर छुट्टी के दिन भी राशन कार्ड बांटने में लग गया है।

आपको बता दें की उधम सिंह नगर के पूर्ति निरीक्षकों द्वारा करोड़ों रुपए का खाद्यान्न घोटाला किया गया है पीले राशन कार्ड को सफेद राशन कार्ड में बदलकर करोड़ों रुपए का खाद्यान्न पूर्ति निरीक्षक व जिला पूर्ति अधिकारी ने मिलकर हजम कर लिया जिसकी शिकायत भाईचारा एकता मंच के केंद्रीय अध्यक्ष केपी गंगवार ने जिलाधिकारी समेत तमाम शासन प्रशासन को की परंतु कोई कार्यवाही नहीं हुई।

विगत माह के अंतिम सप्ताह में माननीय उच्च न्यायालय में खाद्यान्न घोटाले के 200 करोड़ रुपए की जांच और वसूली की मांग को लेकर भाईचारा एकता मंच के द्वारा जनहित याचिका दायर कर दी गई तब पूर्ति विभाग के कर्मचारी और अधिकारियों ने अपने आप को बचाने के उद्देश्य से छुट्टी के दिन भी घर-घर जाकर राशन कार्ड बांटने शुरू कर दिए हैं जबकि आज से पहले अब तक जनपद के पूर्ति निरीक्षक कई कई करोड़ रुपए का खाद्यान्न हजम कर चुके हैं।

जिलाधिकारी उधम सिंह नगर द्वारा भी पूरे मामले में जांच करने के लिए जनपद के सभी उप जिलाधिकारियों को नियुक्त कर दिया है। वही अब भाईचारा एकता मंच ने सभी पूर्ति निरीक्षकों सभी राशन डिपो संचालकों से अब तक हुए खाद्यान्न घोटाले की जांच कर रिकवरी की मांग की है रिकवरी तथा सभी पूर्ति निरीक्षकों की संपत्ति की जांच की मांग भी जनहित याचिका में सम्मिलित की गई है |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here